शिक्षा व्यवस्था का बुरा हाल

उत्तर प्रदेश में भाजपा और योगी की सरकार ने तमाम सतरंगी वादे किये थे। पर आज तीन साल बीतने के बाद भी हालात जस के तस हैं। प्राथमिक, माध्यमिक सहित उच्च शिक्षा का बुरा हाल है। गरीब और दलित समुदाय को मिलने वाली छात्रवृत्ति में घोटाले हो रहे हैं। मिड डे मील में घटिया भोजन परोसा जा रहा है और छात्रों के बीच भेदभाव किया जा रहा है। स्कूली ड्रेस, जूते, पुस्तकें और बस्ते समय से विद्यार्थियों को नहीं मिल पा रहीं हैं। सभी स्तर के विद्यालयों की स्थिति जर्जर हो चुकी है। शिक्षक-छात्र अनुपात बढ़ रहा है। शिक्षा की गुणवत्ता लगातार बदतर हो रही है। आइये जानते हैं यूपी की बदहाल शिक्षा व्यवस्था को…